1
छह साल बाद सोवियत संघ ने देश पर हमला किया और रहमतुल्लाह मुजाहिदीन समूह के जनरल बन गए. बाद में उन्होंने अपने परिवार समेत ब्रिटेन में शरण ले ली.